Koshish karne walon ki poem notes / amazing 10th poem notes

इस लेख में Koshish karne walon ki poem notes को बहुत ही विस्तार से लिखा गया है। अगर आप इस नोट्स का ठीक से अभ्यास करते हैं तो यह कविता के भाव को समझने में बहुत ही उपयोगकारी है।

10वीं कक्षा के छात्रों के लिए Koshish karne walon ki kabhi haar nahi hoti poem notes बहुत ज्यादा important है।

अत : इसकी महत्ता को समझते हुए इस लेख में Koshish karne walon ki kabhi haar nahi hoti poem notes  तथा गीत से संबमनधित Videos को उपलब्ध कराया गया है। आप इनकी मदद से इस कविता को कंठस्थ कर सकते हैं। 

Koshish karne walon ki kabhi haar nahi hoti notes

Koshish karne walon ki poem notes
Koshish karne walon ki poem notes

I. एक वाक्य में उत्तर लिखिए :

1. किससे डरकर नौका पार नहीं होती?

उत्तर : लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती।

2. किनकी हार नहीं होती?

उत्तर : कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

3. दाना लेकर कौन चलती है?

उत्तर : दाना लेकर नन्हीं चींटी चलती है।

4. चींटी कहाँ चढ़ती है?

उत्तर : चींटी दीवारों पर चढ़ती है।

5. किसकी मेहनत बेकार नहीं होती?

उत्तर : कोशिश करनेवालों की मेहनत बेकार नहीं होती।

6. सागर में डुबकियाँ कौन लगाता है?

उत्तर : सागर में डुबकियाँ गोताखोर लगाता है।

7. मोती कहाँ मिलता है?

उत्तर : मोती गहरे पानी में मिलता है।

8. किसकी मुट्ठी खाली नहीं होती?

उत्तर : कोशिश करनेवाले गोताखोर की मुट्ठी खाली नहीं होती।

9. किसको मैदान छोड़कर भागना नहीं चाहिए?

उत्तर : जो जीवन में सफलता पाना चाहता है उसे मैदान छोड़कर भागना नहीं चाहिए।

10.कुछ किये बिना ही क्या नहीं होती है?

उत्तर : कुछ किये बिना ही जय-जयकार नहीं होती है।

Koshish karne walon ki poem notes song

Source : Rk Karnataka Hindi

II. दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए :

1. चींटी के बारे में कवि क्या कहते हैं?

उत्तर : जब छोटी-सी चींटी खाने के लिए दाना लेकर दिवारों पर चढ़ती है तब वहाँ से वह सौ बार फिसलती है। लेकिन मन में विश्वास और नसों में साहस होने के कारण उसे सौ बार फिसलना भी बुरा नहीं लगता। अंत में निरंतर प्रयास के कारण वह अपने घर तक पहुँच
जाती है। इस प्रकार कवि कहते हैं कि कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

2. गोताकोर के बारे में कवि के विचार क्या हैं?

उत्तर : गहरे पानी में मोती ढूँढ़ने के लिए जब गोताखोर सागर में डुबकियाँ लगाता है तब वह कई बार खाली हाथ लौट आता है। फिर भी वह निरंतर प्रयास करता है, इसी प्रयास के कारण उसकी मुट्ठी में मोती फँस जाता है। इस प्रकार कवि कहते हैं कि कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

Koshish karne walon ki poem notes video

Source : Rk Karnataka Hindi

3. असफलता से सफलता की ओर जाने के बारे में कवि क्या संदेश देते हैं?

उत्तर : असफलता से सफलता की ओर जाने के बारे में कवि यह संदेश देते हैं कि- असफलता एक चुनौती है, इसे स्वीकार करना है। सफ्ल होने में क्या कमी रह गई, उसे देखकर सुधार करना है। संघर्ष से न डरते हुए नींद चैन को त्याग कर निरंतर प्रयास करना है।
ऐसे ही किसी की जय-जयकार नहीं होती कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

III. जोड़कर लिखिए :

Koshish karne walon ki poem notes match the following
Koshish karne walon ki poem notes match the following

       अ           ब

  1. लहर             नौका
  2. चींटी             दाना
  3. गोताखोर       डुबकियाँ
  4. असफलता     चुनौती
  5. कमी             सुधार

IV. भावार्थ लिखिए :

नन्हीं चींटी जब दाना लेकर चलती है,
चढ़ती दीवारों पर सौ बार फिसलती है।
मन का विश्वास रंगों में साहस भरता है,
चढ़कर गिरना, गिरकर चढ़ना न अखरता है।
आखिर उसकी मेहनत बेकार नहीं होती,
कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

भावार्थ :

प्रस्तुत पंक्तियों में कवि सोहनलाल द्‍विवेदी जी कहते हैं कि- जब छोटी-सी चींटी खाने के लिए दाना लेकर दिवारों पर चढ़ती है तब वहाँ से वह सौ बार फिसलती है। लेकिन मन में विश्वास और नसों में साहस होने के कारण उसे सौ बार फिसलना भी बुरा नहीं लगता। अत: निरंतर प्रयास के कारण वह दाने को लेकर दीवार पार करते हुए अपने घर तक पहुँच जाती है। इस प्रकार कवि कहते हैं कि कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

V. उदाहरण के अनुसार तुकांत शब्दों को पहचानकर लिखिए :

Koshish karne walon ki poem notes tukant shabda
Koshish karne walon ki poem notes tukant shabda

उदा : पार – हार

  1. चलती – चढ़ती
  2. भरता – करता
  3. लगाता – गिराता
  4. बार – पार
  5. स्वीकार – इनकार

VI. सफलता प्राप्त करने से संबंधित शब्दों पर गोला लगाइए :

Koshish karne walon ki poem notes shabda par gola lagana
Koshish karne walon ki poem notes shabda par gola lagana

VII. दिए गए संकेत बिंधुओं के आधार पर ‘परिश्रम’ पर लघु लेख तैयार कीजिए :

Koshish karne walon ki poem notes laghu lekha
Koshish karne walon ki poem notes laghu lekha
  • बिछेंद्री पाल ने अपने जीवन में पर्वतारोहण की सफलता पाने के लिए कई बार कोशिशें की है।
  • इससे पहले उन्होंने प्रशिक्षण के दौरान बहुत मेहनत की।
  • प्रशिक्षण के पश्चात उन्होंने बड़े उत्साह के साथ पर्वतारोहण का अभ्यास शुरू किया।
  • अभ्यास करते समय कई बार उन्हें पर्वत पर गिरकर-चढ़ना पड़ा।
  • इस अभ्यास एवं दृढ़ निश्चय के कारण ही उन्होंने बड़ी सहजता से एवरेस्ट पर चढ़ने का निर्णय लिया।
  • उनकी मेहनत उन्हें खाली हाथ न कर सकी अंत में वे एवरेस्ट विजेता कहलाई।
  • इस सफलता से पूर्व उन्हें कई प्रशिक्षण की चुनौतियों को पार करना पड़ा।

VIII. कविता की अंतिम पंक्तियों को कंठस्थ करके लिखिए :

असफलता एक चुनौती है, इसे स्वीकार करो,
क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो।
जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम,
संघर्ष का मैदान छोड़कर मत भागो तुम।
कुछ किए बिना ही जय-जयकार नहीं होती,
कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

IX. Koshish karne walon ki poem notes अनुरूपता :

Koshish karne walon ki poem notes anurupata
Koshish karne walon ki poem notes anurupata
  1. मेहनत : परिश्रम :: कोशिश : प्रयास
  2. चढ़ना : उतरना :: हारना : जीतना
  3. स्वीकार : इनकार :: चैन : बेचैन
  4. सिंधु : समुद्र :: हाथ : हस्त

Conclusion

जैसे कि आप ऊपर इस लेख को पढ़ चुके हैं। इस 10th Koshish karne walon ki poem notes के अंतर्गत एक अंक के प्रश्न से संबंधित तथा दो – तीन अंक से संबंधित उत्तर, रिक्त स्थान पूर्ण कीजिए, अनुरूपता, जोड़कर लिखना, शब्दों के नए रूप को लिखना आदि अंशों से संबंधित उत्तरों पर बहुत ही विस्तार रूप  से लिखा गया है।

प्रिय छात्रों आपसे निवेदन है कि आप इस Koshish karne walon ki poem notes को ठीक से पढ़ाई कर इसका अभ्यास करें‌। ताकि आनेवाले वार्षिक परीक्षा में आपको पूर्ण अंक मिल सकें। इस Koshish karne walon ki poem notes से संबंधित आपके कोई Doubts या विचार हो तो जरूर निम्न Comments box में लिखें।

FAQs बार-बार पूछे जाने वाले प्रश्न

  1. 1. किससे डरकर नौका पार नहीं होती?

    उत्तर : लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती।

  2. 2. किनकी हार नहीं होती?

    उत्तर : कोशिश करनेवालों की कभी हार नहीं होती।

  3. 3. दाना लेकर कौन चलती है?

    उत्तर : दाना लेकर नन्हीं चींटी चलती है।

  4. 4. चींटी कहाँ चढ़ती है?

    उत्तर : चींटी दीवारों पर चढ़ती है।

  5. 5. किसकी मेहनत बेकार नहीं होती?

    उत्तर : कोशिश करनेवालों की मेहनत बेकार नहीं होती।

  6. 6. सागर में डुबकियाँ कौन लगाता है?

    उत्तर : सागर में डुबकियाँ गोताखोर लगाता है।

  7. 7. मोती कहाँ मिलता है?

    उत्तर : मोती गहरे पानी में मिलता है।

  8. 8. किसकी मुट्ठी खाली नहीं होती?

    उत्तर : कोशिश करनेवाले गोताखोर की मुट्ठी खाली नहीं होती।

  9. 9. किसको मैदान छोड़कर भागना नहीं चाहिए?

    उत्तर : जो जीवन में सफलता पाना चाहता है उसे मैदान छोड़कर भागना नहीं चाहिए।

  10. 10.कुछ किये बिना ही क्या नहीं होती है?

    उत्तर : कुछ किये बिना ही जय-जयकार नहीं होती है।

अच्छे अंक के लिए इन Notes को जरूर पढ़िए

अतिरिक्त जानकारी 
Visited 176 times, 1 visit(s) today
Share This Post To Your Friends

Leave a comment

error: Content is protected !!